Happy Holi 2019

Holi Quotes, Holi Images, Holi Wishes, Holi Greetings, Holi sms and Much More
Holi in 2019

Holi Poem in Hindi

Holi Poem in Hindi-
होली का त्यौहार हिन्दू धर्म में बहुत महत्व रखता है तथा इस त्यौहार से कई तरह की धार्मिक मान्यताये भी जुडी हुई है जिसकी वजह से इस त्यौहार को मनाया जाता है |
 इसीलिए कई स्कूल में कक्षा Nursery, KG, 1st, 2nd, 3rd, 4th, 6th, 7th, 8th, 9th, 10th, 11th, 12th के बच्चो को होली के ऊपर कविताएं भी पढ़ाई जाती है जिन्हे जानने के लिए आप यहाँ से जानकारी पा सकते है |

Holi Poem in Hindi

Holi Poem in Hindi

  1. एक बार फिर होली आई है,
    साथ ढेर सारी यादे लाई है|
    याद आती है वो बचपन की होली,
    गुब्बारों से जब खेला करते थे,
    पिचकारियों में रंग भरा करते थे,
    दोस्तों से रंगों पे झगड़ा करते थे|
    याद आती है वो ठुमको वाली होली,
    नाचते हुए जब झुमा करते थे,
    ठहाके के संग जिया करते थे,
    अपनों को भी रंग लगवाया करते थे|
    याद आती है वो पकवानों वाली होली,
    गुजियों की थाली को देखा करते थे,
    पेट भर के जब खाया करते थे,
    गरीबों को भी खिलाया करते थे|
    याद आती है वो बचपन वाली होली,
    दिल से जब जिया करते थे|

Read More – Happy holi Greetings 2019

Holi Poem in Hindi Language

Holi Poem in Hindi

2.रंगों का त्योहार है,
खुशियों की सौगात है|
अपनों का साथ है,
दोस्तों का प्यार है|
बच्चों की शरारत है,
बुजुर्गों का आशीर्वाद है|
पकवानों का स्वाद है,
रंगों की बरसात है|
पुरुषों के भांग है,
महिलाओं के गीत है|
अच्छाई की कामना है,
मिलन की अभिलाषा है|
फूलोँ का मेला है,
रंगों की भीड़ है|
साथ मिलकर मनाओ,
यह रंगों का त्योहार है|

देखो-देखो होली है आई
चुन्नू-मुन्नू के चेहरे पर खुशियां हैं आई
मौसम ने ली है अंगड़ाई।

शीत ऋतु की हो रही है बिदाई
ग्रीष्म ऋतु की आहट है आई
सूरज की किरणों ने उष्णता है दिखलाई
देखो-देखो होली है आई।

बच्चों ने होली की योजना खूब है बनाई
रंगबिरंगी पिचकारियां बाबा से है मंगवाई
रंगों और गुलाल की सूची है रखवाई
जिसकी काका ने अनुमति है नहीं दिलवाई।

दादाजी ने प्राकृतिक रंगों की बात है समझाई
जिस पर सभी बच्चों ने सहमति है जतलाई
बच्चों ने खूब मिठाइयां खाकर शहर में खूब धूम है मचाई
देखो-देखो होली है आई।

होली ने भक्त प्रहलाद की स्मृति है करवाई
बच्चों और बड़ों ने कचरे और अवगुणों की होली है जलाई
होली ने कर दी है अनबन की सफाई
जिसने दी है प्रेम की जड़ों को गहराई।

बच्चों! अब है परीक्षा की घड़ी आई
तल्लीनता से करो पढ़ाई वरना सहनी पड़ेगी पिटाई
अथक परिश्रम, पुनरावृत्ति देगी सफलता
अपार जन-जन की मिलेगी बधाई
होगा प्रतीत ऐसा होली-सी खुशियां हैं फिर लौट आई
देखो-देखो होली है आई।

बुराइयों को छोड़ जाना,
अच्छाईयों को अपना जाना, 
खुशियों को बांट जाना,
होली के रंग में रंग जाना|
रूठे हुए को मना जाना,
बिछड़े हुए को मिला जाना,
दुखों को बांट जाना,
होली के रंग में रंग जाना|
पकवानों को साथ लाना,
गरीबोँ को साथ लिखाना,
तोहफे को बांट जाना,
होली के रंग में रंग जाना|
दुआओं को संग लाना,
आशीर्वादों को समेट जाना,
हर किसी को गले लगाना,
होली के रंग में रंग जाना|

Holi Poem in Hindi 2019

पहले साल की होली में
मुझको तुझसे प्यार हुआ
अगली होली में जाकर
उस प्यार का फिर इजहार हुआ,
भूल गया था फिर तो मैं
अपने जीने का ढंग
याद आते हैं बिताये थे, पल जो तेरे संग
वो फाल्गुन की मस्ती वो होली के रंग।
बातें उसके संग होने लगी
दिल में कई उम्मीदें जगीं
पर न जाने मेरे प्यार को क्यों
कैसे किसकी नजर लगी,
कट गयी डोर प्यार की बन गया
मैं तो कटी पतंग
याद आते हैं बिताये थे, पल जो तेरे संग
वो फाल्गुन की मस्ती वो होली के रंग।
झट साल बीतते चले गए
कभी तू था मेरे पास
तू ही तो मेरा अपना था
एक तू ही था मेरा विश्वास,
तेरे दूर यूँ जाने से मेरी
सब खुशियाँ हुयीं बेरंग
याद आते हैं बिताये थे, पल जो तेरे संग
वो फाल्गुन की मस्ती वो होली के रंग।

Holi poem ends here…………….

Share these wonderful poems with your friends & Family.

Read More – holi images 2019